धर्मशाला में घूमने की सबसे प्रसिद्ध जगह

2022 में धर्मशाला में घूमने की सबसे प्रसिद्ध जगह | Dharamshala Tourism in Hindi

Tour Details Contents

2022 में धर्मशाला में घूमने की सबसे प्रसिद्ध जगह | Dharamshala Tourism in Hindi

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में धर्मशाला स्थित है धर्मशाला का मतलब होता है धर्म और शाला। धर्मशाला में पर्यटकों के लिए विश्राम गृह जैसा है । यह उत्तरी भारत का एक प्रमुख धार्मिक स्थल भी है जहाँ पर दलाई लामा जी का जन्मस्थान भी माना जाता है । इस वजह से पूरे देश के बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए यह बहुत ही खास जगह  है । आर निवासन में तिब्बती भिक्षु रहते है। धर्मशाला कांगड़ा से लगभग आठ किलोमीटर दूर है। ये जगह दो भागों में विभाजित है जो ऊपरी हिस्सा है वो धर्मशाला कहलाती है और जो निचला हिस्सा है वो मैक्लोडगंज कहलाती है ।

यहाँ इस लेख में हम पढ़ेंगे कि हम धर्मशाला किस मौसम में जाए कैसे जाए और वहाँ पर देखने के लिए क्या क्या स्थान है ।

धर्मशाला कैसे पहुचे? – How to Reach Dharmashala 

हवाई जहाज द्वारा – Dharmashala By Flight 

हवाई जहाज द्वारा धर्मशाला पहुचने के लिए कांगड़ा में हवाईअड्डा है । ये हवाईअड्डा धर्मशाला से 15 किलोमीटर की दूरी पर है । यहां से आप टैक्सी या ऑटो लेकर धर्मशाला पहुच सकते है ।

ट्रैन द्वारा – Dharmashala By Train 

– धर्मशाला के लिए सबसे नजदीकि रेलवे स्टेशन पठानकोट है जो कि 96 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ।

बस द्वारा – Dharmashala By Bus 

धर्मशाला के लिए रोजाना दिल्ली ,अमृतसर से बस उपलब्ध रहती है जिसमे आप रात भर का सफर तय करने के बाद धर्मशाला पहुच सकते है ।

धर्मशाला में घूमने की सबसे प्रसिद्ध जगह – Best Places to Visit in Dharmshala:

ज्वालामुखी देवी मंदिर Dharmshala Jawala mukhi devi temple 

ऐसी मान्यता है कि राक्षस जब देवताओ को परेशान करते थे तो शिवजी के कहने पर सभी देवताओं ने अपनी शक्ति को यहां केंद्रित किया था तो यहां एक वशाल ज्वाला उत्पन्न हुई थी उसी क्रम में यहां एक लड़की का जन्म हुआ जिन्हें हम सीता या पार्वती के नाम से जानते है ।

डल लेक और नन्दी धर्मशाला Dharmshala Dal lake and Nandi Dharmshala 

यह झील धर्मशाला से 11 किलोमीटर दूर स्थित है । यहां पर इस झील के चारो और ट्रेक करते हुए लोग दिखाई दे जाते है । यहां पर शिव मंदिर बना है जहां सालाना मेला भी लगता है ।

क्रिकेट स्टेडियम Dharmshala Cricket Stadium 

धर्मशाला में एक विश्व प्रसिद्ध क्रिकेट स्टेडियम है । यह खूबसूरत पहाड़ी के मध्य में बना है इसी वजह से ये खूबसूरत और मशहूर स्टेडियम में से एक है । यहां चारो तरफ बर्फ से ढकी पहाड़िया इसकी खूबसूरती और भी बढ़ा देती है । यहां शुरुआत में रणजी ट्रॉफी खेली जाती थी । इस स्टेडियम को आप 20 रुपये की फीस देकर देख  सकते है ।

वॉर मेमोरियल धर्मशाला War Memorial Dharmashala  

धर्मशाला के इस मेमोरियल , उन वीर सैनिकों के नाम पर बनाया गया है जो की चीन और पाकिस्तान युद्ध में शहीद हो गए थे । यहाँ पर स्वतंत्रता के बाद जो भी युद्ध हुए उसमें शहीद सैनिकों के लिए तीन पिलर बनाए गए हैं जहाँ पर संगममर के पत्थर पर उनका नाम लिखा गया है अभी तक 1046 पत्थर यहाँ पर अंकित किये गये है ।

मसरूर रॉक कट मन्दिर Dharmshala Masroor Rock Cut Temple 

पुरानी मान्यता के अनुसार पांडवों ने अपने वनवास के समय यहाँ पर इस मंदिर का निर्माण करवाया था । उनकी कल्पना में एक बहुत ही विशाल मंदिर था लेकिन किसी कारणवश यह मंदिर पूर्ण नहीं हो पाया । यहाँ पर तीन दरवाजे हैं जिनमें से दो क्षतिग्रस्त है और एक सही है । इस मंदिर में शिव जी और विष्णु भगवान की मूर्ति स्थापित है इस मंदिर का निर्माण आठवीं शताब्दी में करवाया गया था ।

धर्मशाला का धर्मकोट Dharmkot Dharmashala 

धर्मशाला का सबसे खूबसूरत और छोटा सा हिल स्टेशन है धर्मकोट । ये धर्मशाला से लगभग 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । यहाँ से आपको कांगड़ा की ऊंची ऊंची पहाड़ियां बहुत ही सुंदर नजारा  देते हुए दिखाई देती है ।  इस हिल स्टेशन पर कुछ विदेशी पर्यटक अभी रहने भी लगे है ।

भागु झरना Dharmshala Bhagu Falls 

धर्मशाला से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ये झरना । यहां धर्मशाला घूमने आने वाले लोगो मे अपनी अलग ही पहचान रखता है ये प्राकृतिक झरना ।

नामग्याल मठ Dharmshala Namgyal Monastery 

दलाई लामा के जन्मस्थान के कारण  बौद्ध धर्म के अनुयायी यहां बहुत संख्या में आते है । यहाँ पर शांति पूर्ण प्रार्थना और ध्यान किया जाता है । इसे दलाई लामा जी का निजी मठ भी कहा जाता है ।

कांगड़ा वैली Dharmshala Kangada Valley 

धर्मशाला की ये जगह बहुत ही खूबसूरत जगह है । यह दगर्मशाला से 28 किलोमीटर की दूरी पर है  यह समुद्र तल से 2000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है इसकी छोटी  15000 फिट तक जाती है ।

कोतवाली बाजार Dharmshala Kotwali Bazar

धर्मशाला का ये बाजार कोतवाली बाजार के नाम से मशहुर है । यहां।   आपको तिब्बतियन और नेपाली गर्म कपड़े मिलेंगे । यहां सबसे ज्यादा लकड़ी और मेटल के भगवान बुद्ध की मूर्तियां बहुत बिकती है ।

धर्मशाला में घूमने का सबसे अछ्छा  समय – Best Weather to go Dharamshala:

धर्मशाला घूमने का सही समय सितम्बर से लेकर मार्च तक रहता है इस समय यहां अच्छी ठंड की वजह से मोसम खुशनुमा रहता है ।

स्थानीय भोजन – Food Of Dharmshala

धर्मशाला घूमने जब जाए तो यहां का स्थानीय भोजन जरूर करे इनमे तुड़किया, थुपकु शप्ता, मोमोज , मैग्गी है ।

अन्य जगहों की धर्मशाला से दूरी – Distance From Dharmshala

दिल्ली 480 किलोमीटर

शिमला 240 किलोमीटर

मनाली 240 किलोमीटर

अमृतसर 202 किलोमीटर

आपको हमारा ये लेख कैसा लगा हमे जरूर बताएं इससे हम और ज्यादा सुधार करके आपके लिए नए नए लेख लेकर आये  ।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.