Masoori me kya dekhe, Masoori destination,

Best Places To visit In Mysore In Hindi

Best Places To visit In Mysore In Hindi

सेंडल वूड सिटी , योगा सिटी , महलों की सिटी या फिर आइवरी सिटी के नाम से मशहूर है कर्नाटक राज्य का दूसरा सबसे खूबसूरत शहर मैसूर । देश का सबसे बड़ा दशहरा मेला मैसूर में आयोजित किया जाता है , जिसे देखने लाखो की संख्या में पर्यटक आते है । मैसूर भारत के सबसे स्वच्छ शहरो में से एक है । यहा आपको चन्दन की लकड़ी पर किये कार्य इतने पसंद आयेंगे की आप आनन्दित हो जायेंगे । मैसूर के नामो से आप जान सकते है की यहा हर जगह महल, गार्डन, चिडियाघर है । हमारे देश का सबसे बड़ा योग सेंटर भी यही खुला था जहा पर देश के लोगो के अलावा विदेशी लोग भी योग करने आते है । आज हम आपको मैसूर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से दे रहे है.

How To Reach Mysore मैसूर कैसे पहुचे

Mysore By Flight मैसूर हवाई जहाज द्वारा

मैसूर पहुंचने के लिए यहाँ का घरेलू हवाई अड्डा मैसूर में ही स्थित है जहा पर चेन्नई, मुंबई और बैंगलोर से सीधे फ्लाइट रहती है । इसके अलावा मैसूर पहुंचने के लिए आप बैंगलोर के लिए भी फ्लाइट ले सकते हैं जो कि मैसूर से 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ।

Mysore By Train मैसूर ट्रैन द्वारा

मैसूर सिटी से लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ मैसूर का रेलवे स्टेशन, देश के बाकी स्टेशन से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है । इसके अलावा मैसूर, बैंगलोर से भी सीधा कनेक्ट है । इस वजह से अगर कहीं से मैसूर के लिए सीधी ट्रेन ना भी हो तो बैंगलोर पहुँचकर आप मैसूर के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं ।

Mysore By Bus मैसूर बस द्वारा

मैसूर मैं स्टेट ट्रांसपोर्टेशन की अच्छी सुविधा है । यहाँ आप आसपास के बड़े शहरों से सीधे बस लेकर पहुँच सकते हैं ।

Best Weather For Mysore मैसूर किस मौसम में जाये

अक्टूबर से लेकर फरवरी के बीच में यहाँ पर काफी अच्छा मौसम रहता है जिसमें आप बड़ी आसानी से मैसूर मैं घूम सकते हैं । मैसूर में अक्टूबर से लेकर फरवरी के बीच 10 डिग्री से लगभग 22 डिग्री तक का तापमान बना रहता है जो की घूमने के लिए काफी अच्छा माना गया है ।

Food Of Mysore मैसूर का भोजन

जब आप मैसूर जा रहे हैं तो यहाँ पर आप इडली-वडा , मैसूर पाक, मैसूर बोंडा आदि साउथ इंडियन भोजन का स्वाद ले सकते है । सबसे ज्यादा प्रचलित मैसूर पाक का आनन्द लेना आप बिलकुल भी ना भूले ।

Visiting Places Of Mysore मैसूर घूमने की जगह

मैसूर में ऐसे घूमने के लिए काफी जगह है जहा आप कम से कम दो दिनों का प्रोग्राम बना सकते है , इन्ही में से कुछ इस प्रकार है

Mysore Palace मैसूर पैलेस

मैसूर पैलेस को 1912 में महाराजा कृष्णा राजा 4 ने बनवाया था मैसूर पैलेस 12 हिंदू मंदिरों के बीच में स्थित है । ये पैलेस 4 एकड़ में बसाया गया है । जब आप पैलेस के अंदर जाएंगे तो यहां आपको 100 साल पुरानी कई पेंटिंग दिखेगी जिनमे से ज्यादातर को 3D  में बनाया गया । इस पैलेस का आर्किटेक्चर राजपुताना और मुग़लकाल का मिश्रण है । इस पैलेस के अंदर ऐसी कई पुरा चीजे रखी गई है जो महाराजा के समय प्रयोग में लाई जाती थी । यहां चन्दन की लकड़ी से बने निमंत्रण पत्र बहुत अच्छे से सँजोये गए है । इस पैलेस में एक वीना धारण किये हुए गणेश जी की मूर्ति है जो मैसूर के अलावा जयपुर पैलेस में है , अधिकांशतः वीना धारित सरस्वती जी की मूर्ति ही दिखाई पड़ती है । इस महल के अंदर तीन मण्डपम है जहां एक मंडप में  राजा सभा करते थे दूसरे में शादियां या कोई समारोह आयोजित किया जाता था । यहां  इस महल में नवरात्रि के दिनों में बहुत ही शानदार आयोजन किया जाता है । 9 दिनों तक मातेश्वरी की पूजा अर्चना की जाती है उसके पश्चात 10वे दिन हमारे देश के सबसे बड़े दशहरे मेले का आयोजन किया जाता है । इस मेले में लाखों लोग शामिल होते है । इस पैलेस को रोजाना 1 लाख बल्ब से प्रकाशमान किया जाता है ।

Lalitha Palace Mysore ललिता पैलेस मैसूर

ललिता पैलेस चामुंडी हिल रोड पर बना मैसूर का दूसरा सबसे बड़ा महल है । इस महल का निर्माण 1921 में करवाया गया था ।


Vrindavan Garden Mysore बृंदावन गार्डन मैसूर

मैसूर का मशहूर बृंदावन गार्डन सिटी से 18 km की  दूरी पर स्थित है । यहां जाने के लिए आपको 50 रुपये का टिकिट लगता है एवम कैमरा ले जाने के किये 100 रुपये का टिकिट लगता है । यहां रोजाना 4000 से 5000 पर्यटक आते है । यह गार्डन 60 एकड़ में बसा हुआ  है । यहां राधा कृष्ण का मंदिर बना हुआ है जो काफी खूबसूरत है । यह गार्डन सुबह 6.30 से शाम 7 बजे तक खुला रहता है । यहां रात्री में म्यूजिकल फव्वारे बहुत ही शानदार नजारा देते है ये आपको आनंदित कर देंगे ।


Mysore Zoo मैसूर चिडियाघर

यह ज़ू सिटी से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । यहां आपको एंट्री के लिए 80 रुपये का टिकिट लेना होता है । यहां पहुचकर आप जग्वार , जिराफ ,सांप और अजगर को बिल्कुल पास से देख सकते है । यह जू मैसूर पैलेस के पास ही 157 एकड में फैला हुआ है यहा आप बोटिंग का मजा भी ले सकते है आप जब भी मैसूर की यात्रा पर जाये भारत के सबसे पुराने जू को देखने जरूर जाये ।

 

Chamundi Hills and Temple Mysore चामुंडा हिल एवं चामुंडा देवी मंदिर  

मैसूर सिटी से चामुंडी हिल्स 12 km की दूरी पर स्थित है । माँ दुर्गा के रूप चामुंडेश्वरी को समर्पित है चामुंडी हिल्स पर बना चामुंडेश्वरी मन्दिर । यहां पर राजपरिवार द्वारा नवरात्रि के दिनों में पूजा अर्चना की जाती है । ऐसा कहा जाता है कि माँ सती के जब टुकड़े हुए तब उनके बाल इसी जगह पर घिरे थे तब से ही यहां मा चामुंडेश्वरी की पूजा की जाती है । यह मंदिर 12 मंजिला है जिसका निर्माण द्रविड़ वास्तुकला में 12 वी शताब्दी में किया गया था । यहा चामुंडी हिल्स पर महिषासुर राक्षस की मूर्ति भी स्थापित है जिसका वध मा चामुंडा ने किया था । आप जब भी मैसूर जाए इस धार्मिक स्थल के दर्शन जरूर करे ।


Sand museum Mysore सेंड म्यूजियम मैसूर

मैसूर का सेंड म्यूजियम 2014 में बनाया गया देश का पहला रेत की मूर्तियां बनाने का म्यूजियम है । यहाँ पर मैसूर की संस्कृति को प्रदर्शित करने वाली 150  से अधिक रेत की मूर्तियों का निर्माण किया गया है । इस म्यूजियम का निर्माण एम एन गौरी द्वारा किया गया है । मैसूर का यह सेंड म्यूजियम 13500 sqft मैं बनाया गया है । जब आप चामुंडा देवी हिल्स की तरफ आगे बढ़ते हैं तो ये म्यूज़ियम रास्ते में ही स्थित है । ये म्यूज़ियम सुबह 8.30 से शाम को 6.30 बजे तक टूरिस्ट के लिए खुला रहता है यहाँ आपको रेत की मूर्तियाँ देखने के लिए ₹40 का एक टिकट लेना होता है । अगर आप इस म्यूजियम को देखने जा रहे हैं तो कम से कम 1 घंटे का समय लेकर इस म्यूजियम को एक्सप्लोर करें ।

Karanji Lake Mysore करणजी झील मैसूर  

करणजी झील को 1976 में मैसूर के राजा द्वारा पानी की पूर्ति करने के लिए बनाया गया था । यह झील सिटी सेंटर से लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । इस झील के किनारे पर बसा बटरफ्लाई पार्क पर्यटकों काफी आकर्षित करता है । जब आप इस झील के किनारे घूमने निकलेंगे तो आपको बड़ी ही शांति का अनुभव प्राप्त होगा ।


Jagmohan Palace Mysore जगमोहन पैलेस मैसूर

कृष्ण राजा 3 ने इस जग महल पैलेस का निर्माण सन 1861 में किया था । मैसूर पहले लकड़ी से बना हुआ था एक समय वो आग से जलकर राख हो गया तो नया मैसूर पैलेस बनने में जो समय लगा उस समय रॉयल परिवार जगमोहन पैलेस में रहने लग गया था । आजकल यह पैलेस एक शानदार आर्ट गैलरी में बदल दिया गया है यहां आप कई शानदार वस्तुएं देख सकते है जो राजा महाराजा काम मे लिया करते थे । इस महल में दो विशाल लकड़ी के दरवाजे बने हुए हैं जिसमें भगवान विष्णु की प्रतिमा की नक्काशी की गयी है ।

Saint Philomena Church Mysore सेंट फिलोमेना चर्च मैसूर

सेंट फिलोमेना चर्च या फिर जोसेफ चर्च का निर्माण 1941 में महाराजा कृष्ण राजा ने करवाया था इस चर्च में एक सभाग्रह और एक वेदी भी विद्यमान हैं । यहाँ पर बनी हुई पेंटिंग से आप ईसा मसीह के पूरे जीवनकाल को देख पाएंगे । इस चर्च में 54 मीटर ऊंचे टावर बने हुए हैं जो देखने में काफी आकर्षक लगते हैं । इस चर्च को गोथिक वास्तुकला मैं बनवाया गया है ।


Rail Museum Mysore रेल म्यूजियम मैसूर

यह म्यूजियम मैसूर रेलवे स्टेशन के पास में ही स्थित है । इस म्यूजियम को 1979 में बनाया गया था । इस म्यूजियम में आप रेल के इंजिन , उनके कोच आदि चीजे देख सकते है । इसमें पुराने समय मे काम मे लिए जाने वाले स्टीम इंजिन को बखूबी दिखाया गया है । इसमे वीडियो फॉरमेट में बहुत जारी जानकारी दी जाती है जिसे देखकर आपको रेल सिस्टम की कार्यप्रणाली जानने का मौका मिलेगा ।  यह म्यूजियम  सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुला रहता है । इस म्यूजियम को देखने के लिए आपको एक टिकिट लेना होता है जिसका मूल्य 50 रुपये होता है ।


Wax Museum Mysore वेक्स म्यूजियम मैसूर

मैसूर के इस म्यूजियम में मोम से बनी 100 से अधिक मूर्तिया और लगभग 200 से ज्यादा वाद्य यंत्र बनाये गए है जो कि देखने मे बहुत ही आकर्षक लगते है । यह म्यूजियम चामुंडी हिल्स रोड पर ही स्थित है । यह म्यूजियम सुबह 9.30 से शाम 7 बजे तक खुला रहता है यहा आप 30 रूपये का टिकिट लेकर इसे एक्सप्लोर कर सकते है ।


दोस्तो अगर आप इस पूरे आर्टिकल को वीडियो के रूप में देखना चाहते है तो उसके लिए यहां इस वीडियो को देखिए दोस्तों ये था हमारा मैसूर का आर्टिकल , आपको ये आर्टिकल केसा लगा हमे कमेन्ट करके जरूर बताइयेगा.

Related Post 

Best Places To visit In Mysore In Hindi

Delhi me ghumne ki jagah | Delhi Tourist places in Hindi

Top 10 Tourist Places Of Rajasthan In Hindi

Haldighati Tour In HIndi | महाराणा प्रताप के जीवन को दर्शाती हे राजस्थान की हल्दीघाटी

Agra Tourist Places In Hindi | आगरा सिटी टूर के बारे में जानकारी

 Chittorgarh Fort In Hindi | Asia Ka Sabse Bada Kila | चित्तौड़गढ़ |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *