india ke bade mandir, hindustan ke bade desh,

Top 15 Famous Temples To Visit In India In Hindi

Tour Details Contents

Top 15 Famous Temples To Visit In India In Hindi

भारत को मन्दिरो का देश भी कहते हैं। क्योंकी यहाँ पर एक से बढकर एक रहस्यमयी, चमत्कारी पवित्र मंदिर है। हर धर्म में उसके एक से पाँच बड़े देवता होते ही है। ऐसे में उन देवताओं के विशाल मंदिर भी होते हैं। वैसे ही भारत देश में हर धर्म के सबसे बड़े भगवान के विशाल मंदिर मौजूद है। हम आपको आज इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से भारत के टॉप 15 विश्वप्रसिद्ध मन्दिरो के बारे में बतायेगे जहाँ प्रतिदिन लाखो की संख्या में देश-विदेश से श्रद्धालु-भक्तगण आते रहते हैं। 

 

Golden Temple Amritsar स्वर्ण मंदिर, अमृतसर

स्वर्ण मंदिर पंजाब राज्य के अमृतसर शहर के अंदर आया हुआ है। आपको जानकर हैरानी होंगी जिन सिख गुरु का ये मंदिर है उनको कोई अन्य धर्म श्रद्धालु नही जानते सिर्फ ये भारत वह पूरी दुनिया में “गोल्डन टेम्पल के नाम से विख्यात हैं। यह गुरुद्वारा सिखों के पवित्र

 गुरु श्री हरमंदिर साहिब का हैं। इस गुरुद्वारे के अंदर कोई जात-पात नही चलती सब लोग भाईचारे से एकसाथ श्रद्धा भाव से गुरुवाणी कीर्तन सुनते हैं। सब लोग साथ बैठकर खाना खाते हैं। स्वर्ण मंदिर में हर दिन 1,00000 से भी अधिक लोग दर्शन करने आते हैं इनमें से कोई भी भूखा नही जाता। सब में गुरु का लंगर बंटता हैं। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है ;

● टेम्पल के अंदर सुबह से शाम तल दस से भी अधिक गतिविधियां होती हैं। मतलब आप पूरे दिन गोल्डन टेम्पल में रुक सकते हैं। 

● यहाँ पर सिख धर्म से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको मिलेंगी। 

● सबसे अच्छी बात मंदिर 24घण्टे  खुला रहता हैं।

 

Delvada Jain Temple Mount Abu देलवाडा जैन मंदिर, माउंट आबू

 दिलवाड़ा जैन टेम्पल राजस्थान राज्य के सिरोही जिले में स्थित माउंट आबू शहर में आया हुआ है। यह राजस्थान के सबसे प्रसिद्ध जैन मंदिरों में से नम्बर एक स्थान पर आता है। 

दिलवाड़ा जैन मंदिर अपनी शानदार वास्तुकला और संगमरमर के पत्थरो की नक्काशी के लिए प्रसिद्ध हैं। ये मंदिर जैन धर्म के तीर्थंकर नेमिनाथ व विमल वासाही को समर्पित हैं। इन दोनों महान तीर्थकरों का अलग-अलग मंदिर दिलवाड़ा टेम्पल के अंदर ही मौजूद है।

इस मंदिर का निर्माण ग्यारहवीं से तेहरवीं शताब्दी के मध्य में हुआ था। पूरे मंदिर के दीवारों पर आपको एक ऐतिहासिक महत्व दिखेंगा। कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट;-

  • 48 खंभों पर नृत्य करती हुई महिलाओं का चित्र आकृति बनायी गई है
  • बेहतरीन शिल्प – कला का उदाहरण इससे बढ़िया आपको कही नही दिखेंगा।
  • दिलवाड़ा मंदिर के अंदर – पित्तलहार, श्री पार्श्वनाथ, श्री महावीर स्वामी, श्री आदिनाथ, खरतर वासाही, श्री ऋषभदाऊजी, श्री नीमनाथ जी, लुनावाशी व विमालवसाही भगवान के मंदिर बने हुए हैं

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है;

● जैन धर्म के लोग मंदिर में किसी भी समय प्रवेश कर सकते हैं। 

● अन्य यात्रीयो व श्रद्धालुओं के लिए सुबह 12 बजे मंदिर खुलता है व शाम 6 बजे बंद बंद हो जाता है। मंदिर पूरे साल खुला रहता है। समय-सारणी बदल भी सकती है। 

 

Virupaksh Temple Humko विरुपाक्ष मंदिर हम्पी 

श्री विरुपाक्ष मंदिर कर्नाटक राज्य के हम्पी शहर में स्थित हैं। इसके अंदर भगवान शिव की प्रतिमा स्थापित की गई हैं। इस मंदिर का निर्माण सातवी शताब्दी के अंदर किया गया था। मंदिर के सभी दरवाजो में पूर्वी दरवाजा 50 मीटर लंबा है। विरुपाक्ष टेम्पल की स्थापत्य शैली कमाल की है। ये मंदिर पौराणिक और ऐतिहासिक दोनो दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है।  सबसे अद्भुत दृश्य ये होंगा की आप विरुपाक्ष मंदिर का हाथी जिसे लक्ष्मी (मंदिर हस्ति) कहाँ जाता है। उसे अपने हाथों से प्रसाद खिला सकते हैं।

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है;

● मन्दिर सुबह 9 बजे खुलता है, दोपहर 1 बजे से 5 बजे तक खुला रहता है वह रात्रि 9 बजे द्वार बंद हो जाते हैं।  

● तीन से चार घण्टे का समय व्यतीत कर सकते हैं।  प्रवेश निशुल्क हैं। 

 

Vaishno Devi Temple Jammu and Kashmir वैष्णो देवी, जम्मू व कश्मीर

हिन्दू धर्म के सबसे पवित्र स्थलों में वैष्णो देवी मंदिर भी आता है। इन्हें मुँह मांगी मुरादे पुरी करने वाली माता भी कहा जाता है क्योकी यहाँ पर आने वाले भक्तों की माता हर कामना पूरी करती हैं। मंदिर में पूजा, दर्शन, प्रसाद व अन्य बहुत सारी धार्मिक गतिविधियां करवाई जाती हैं। नवरात्रि और दिवाली का त्यौहार वैष्णो देवी में धूमधाम से मनाया जाता हैं 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है;

● आप बैटरी कार यात्रा शुरू करने से पहले ही उनकी ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर बुक कर सकते हैं।

● यहाँ पर आपको आराम करने के लिए एक भवन मिलेंगा। इसके अलावा यात्रियों के लिए माता के भक्तों ने हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध है। जय माता दी। 

 

Kashi Vishvanath Temple Varanasi काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी

काशी विश्वनाथ मंदिर उत्तरप्रदेश राज्य के वाराणसी शहर में आया हुआ है। यह भगवान शिव का मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण 1780 में इंदौर की महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था। इसे भारत का दूसरा गोल्डन टेम्पल भी कहते हैं। अगर आप 11,000 रूपये का दान देते हैं तो आपको मंदिर में स्पेशल पूजा करने का मौका भी दिया जायेगा। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है ;

सभी यात्रियों/श्रद्धालुओं को मुफ्त में भरपेट भोजन की व्यवस्था श्री विश्वनाथ मंदिर न्यास अन्नक्षेत्र की तरफ से रखी गई हैं।

● 24 घण्टे मंदिर खुला रहता है। आप किसी भी समय दर्शन कर सकते हैं।

 

Kedarnath Temple Uttrakhand केदारनाथ मंदिर, उत्तराखंड

उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग, गढ़वाल में मौजूद केदारनाथ मंदिर हिन्दू धर्म के चार पवित्र धाम में से एक धाम है। वही ये उत्तर भारत का सबसे पवित्र तीर्थ स्थल माना जाता है। वही केदारनाथ का नाम भारत के 12 शिव ज्योतिर्लिंग की सूची में आता है।  ये विशेष रूप से चारधाम यात्रा, ट्रैकिंग, हिमालय पर्वत व पंच केदार के लिए प्रसिद्ध हैं। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड;

● मई से नवंबर तक 8 महीने सबसे बेस्ट टाइम है केदारनाथ दर्शन करने के लिए।

Swami Narayan Akshar dham Temple Delhi स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली

दिल्ली शहर में मौजूद अक्षरधाम टेम्पल पूरे भारत में प्रसिद्ध हैं। मंदिर के अंदर का गार्डन, आध्यात्मिक माहौल, सुंदरता आपका मन मोह लेती है। ‘ सबसे बढ़िया देखने लायक मंदिर के अलावा यहाँ का ‘Water Show’ कार्यक्रम है। इसलिए संध्याकाल 6 बजे ही मंदिर में पहुंच जाए। अधिक जानकारी के लिए नीचे टूरिस्ट गाइड पढे।

टूरिस्ट के लिए एक गाइड;

● मन्दिर 24 घण्टे खुला रहता हैं।  एंट्री सुबह 10 बजे शुरू हो जाती हैं व शाम को 6:30 बजे के बाद आप अंदर नही आ सकते। 

● वाटर शो शाम 7:15 PM पर होता हैं। 

Minakshi Temple Madurai मीनाक्षी मंदिर मदुरै

मीनाक्षी सुंदरेश्वर मंदिर तमिलनाडु राज्य के मदुरै शहर में आया हुआ है। इसका तीसरा नाम अम्मां मीनाक्षी मंदिर भी है।  इस ऐतिहासिक मंदिर को इतिहास में इस्लामिक आक्रांताओं ने कई बार ध्वस्त किया। लेकिन ये आज भी अपने वैभव, वह पौराणिक शक्तियो के दम पर टिका हुआ है। 

अगर आप दक्षिण स्थापत्य शैली देखना चाहते हैं तो यहाँ पर आ सकते हैं। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड;

● मंदिर सुबह 9 बजे खुलता है व शाम 7 PM बंद हो जाता है। 

● मंदिर के अंदर होने वाले उत्सवों में भाग जरूर ले। 

Malikarjun Swami Temple Sriselem मल्लिकार्जुन स्वामी मंदिर, श्रीशैलम

मल्लिकार्जुन स्वामी मंदिर आंध्रप्रदेश राज्य के श्रीशैलम शहर में मौजूद है।  मंदिर का पुरा नाम “श्री भ्रमराम्बा मल्लिकार्जुन स्वामी अम्मावारुला देवस्थानम” है। इस मंदिर में भोलेनाथ की पूजा की जाती है। यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगो में से एक है। हिन्दू शास्त्रो के अनुसार भगवान विष्णु, ब्रह्मा व महेश तीनो के बीच में सबसे बड़े देवता के रूप में बहस हुई तो शिवजी ने प्रकाश के स्तंभ के रूप में पूरे ब्रह्मांड में बिखर गए। वह जहाँ पर उनके कण पड़े वहाँ – वहाँ ज्योतिर्लिंग स्थापित किया गया। उन्ही में एक मल्लिकार्जुन ज्योर्तिलिंग हैं।

टूरिस्ट के लिए एकगाइड;

● पूरे सप्ताह सुबह 5:30 बजे से शाम 9:30 बजे तक खुला रहता है। 

● सर्दियों में सबसे अच्छा समय है। मंदिर के अलावा अन्य आसपास के पर्यटक स्थलों को देखने के लिए। 

Somnath Temple Gujrat सोमनाथ मंदिर, गुजरात

सोमनाथ मंदिर गुजरात राज्य के वेरावल नगर  में आया हुआ है। यह मुख्य रूप से भगवान शिव 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक है इसलिए प्रसिद्ध हैं। इसका निर्माण राजा नाग भट्ट द्वितीय ने करवाया था। मुगल आक्रांता मुहम्मद गजनवी ने इसे ध्वस्त कर दिया था। इसको तीन बार पुनः निर्मित किया गया। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार यह माना जाता है की भगवान श्री कृष्ण ने अपनी लीला यही पर समाप्त की थी। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है;

●  मंदिर पूरे सप्ताह सुबह 7:30 बजे से शाम 10 बजे तक खुला रहता हैं। 

● मंदिर के सभी गतिविधियों में हिस्सा ले। 

Jagnnath Temple Puri Orisa जगन्नाथ मंदिर उड़ीसा पुरी

भगवान जगन्नाथ मंदिर उड़ीसा राज्य के पुरी शहर में आया हुआ है। यह भगवान श्री कृष्ण का मंदिर है। बहुत कम लोगो ये बात पता है की इस मंदिर से हर साल निकलने वाली विश्वप्रसिद्ध रथयात्रा की शुरुआत अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ ( इस्कॉन) के संस्थापक प्रभुपाद जी ने की थी। बात यह है की इस्कॉन में बहुत सारे भक्त विदेशी लोग भी है तो एकबार जब इस्कॉन भक्त जगन्नाथ मंदिर दर्शन करने गये तो मंदिर के पुजारी ने उनको अंदर प्रवेश करने से रोक दिया। गुस्साए श्रील प्रभुपाद जी ने उसी दिन से रथयात्रा प्रारंभ कर दी ताकी हर आदमी उनके घर के नजदीक ही दर्शन कर सके।

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है;

● मंदिर पूरे सप्ताह सुबह 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक खुला रहता है। 

● मंदिर के आसपास एरिया में जरूर घूमे।

Prem Temple Vrindavan प्रेम मंदिर, वृंदावन

कृपालु महाराज के प्रेम मंदिर पर तो पूरा 5000 शब्दो का लेख लिखने का मन करता है। मेरा अनुभव शानदार रहा। प्रेम मंदिर वृंदावन शहर में इस्कॉन मंदिर के बाँए तरफ कुछ ही दूरी पर आया हुआ है। इस मंदिर के अंदर आप भगवान श्री कृष्ण की जन्म से लेकर सभी लीलाओं को जीवित चित्र रूप में देखेंगे। इसके अलावा यहां पर शाम को सात बजे लाइट शो होता है जिसमें शेषनाग व कृष्ण भगवान को लड़ाई करते दिखाया जाता है। प्रेम मंदिर के अंदर जाते ही वहाँ का माहौल देखते ही आप अंदर से एक शांति महसूस करोंगे। मेरी आपको सलाह है की पूरा मन्दिर घूमे। वहाँ पर खाने-पीने की सुविधा भी है और ज्ञान प्राप्त करने के लिए प्रेम मंदिर के संस्थापक कृपालु महाराज की साहित्य पुस्तकें भी है। वहाँ के लोग आपको ज़बरदस्ती करें तो चिंता ना करे वो चाहते हैं आप 50 – 100 रूपये की पुस्तकों को खरीदकर करोड़ो रूपये का ज्ञान प्राप्त करें। इसमें बुरा क्या है?

टूरिस्ट के लिए एक गाइड;

●चप्पल मंदिर प्रांगण में ना खोलकर वहाँ पर चप्पल रखने के स्टैंड की व्यवस्था है। चप्पल खोलकर टोकन जरूर ले। ताकी फिर दर्शन करके आते ही टोकन दिखाते ही आपको चप्पल मिल जायेंगे।

● मंदिर समय – 10 AM से 8PM तक। 

Mahabodhi Temple Bodhagaya महाबोधि मंदिर, बोधगया

महाबोधि मंदिर बिहार राज्य के “गया” शहर में मोजूद है। बोद्ध धर्म के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। इस मंदिर को विश्व विरासत धरोहर का दर्जा भी मिला हुआ है। भगवान बुद्ध के सभी उत्सवों को यहाँ पर धूमधाम से मनाया जाता है। इसको दूसरी शताब्दी को बनाया गया था। 

टूरिस्ट के लिए एक गाइड;

● मंदिर सुबह 5 बजे से शाम 9 बजे तक खुला रहता है।  एंट्री फ्री है। 

Ayappa Temple Sabrimala अयप्पा मंदिर, सबरीमाला

अयप्पा मंदिर केरल राज्य के पत्तनमतिटा जिला के सबरीमाला नामक स्थान में आया हुआ है। 

यहाँ पर भगवान अय्यपा के दर्शन करने पूरे विश्व से 4 से 5 करोड़ लोग प्रतिवर्ष आते हैं। यहाँ पर मकर संक्रांति व स्थानीय त्यौहार मकरविलककु धूमधाम से मनाया जाता है। यह मंदिर पौराणिक दृष्टि से बहुत महत्व रखता है। 

टूरिस्ट के लिए एकगाइड;

● यहाँ पर विवाहित महिलाओं का प्रवेश निषेध है। व अविवाहित लडकिया वह बुजुर्ग महिलाएं जा सकती है। इसके पीछे का कारण यह है की भगवान अय्यप्पन आजीवन ब्रह्मचारी रहे थे। 

● मंदिर की टाइमिंग फिक्स नही है। 

Shri Padmanabh Swami Temple श्री पदमनाभास्वामी मंदिर 

पदमनाभास्वामी मंदिर भारत के केरल राज्य के तिरुवनंतपुरम शहर में आया हुआ है। यह दुनिया का सबसे धनी मंदिर है। क्या? जी बिल्कुल सही पढ़ा आपने!! यह दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है जिसकी सालाना कमाई 1 लाख करोड़ रुपये है।  यह भगवान विष्णु का मंदिर है।

टूरिस्ट के लिए एक गाइड है। ;

● मंदिर सुबह 3:30 बजे खुलता है व 12 बजे द्वार बंद हो जाते हैं।

●फिर सांध्यकाल 5 बजे खुलता है वह 8:30 बजे बंद हो जाता हैं। 

● पूरे सप्ताह खुला रहता है। 

【 Conclusion 】

इस तरह आपने आज भारत के टॉप 15 प्रसिद्ध मन्दिरो के बारे में पढ़ा और एक अच्छी जानकारी प्राप्त की। पोस्ट अच्छी लगे तो अपने सभी परिवार, रिश्तेदारो व दोस्तो के साथ साझा करें। और आपने अबतक उपर बताये पंद्रह मंदिरों में से कितने टेम्पल की यात्रा की नीचे ब्लॉग टिप्पणी बॉक्स में बताए। 

 

Related Articles 

Best Places to Visit in Madurai in Hindi

Vaishno Devi Yatra In Hindi | वैष्णो देवी मंदिर यात्रा के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

Mysterious Temple in India In Hindi

Top 10 jain Temple in india in Hindi | भारत के प्रसिद्ध जैन के बारे में जानकारी

Haridwar Tour In Hindi | तीर्थनगरी हरिद्वार में क्या देखने लायक हैं?

Places To Visit In Bodhgaya In Hindi

Mathura Vrindavan Complete Tour Guide In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *